क्या रूस का कोरोना वैक्सीन इंसानों पर कारगर हे ?

Share with Friends
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कोरोनावाइरस संक्रमण:

क्या रूस का कोरोना वैक्सीन इंसानों पर कारगर हे । कोरोना वाइरस जो कुछ दिनों से दुनिया भर में हैं अब पूरी दुनिया इसके अधीन है। वायरस ने अब तक कई लोगों इस वायरस में जान गवा बैठे हैं। दुनिया भर में संक्रमण  की संख्या बढ़कर 2,02,75,611 हो गई है। और बुकिंग में अब तक 7.39 लाख लोग कोरोना से मर चुके हैं।  कुछ लोग इस महामारी से गुज़रे हैं। आज तक, दुनिया भर में 1.32 मिलियन से अधिक रोगियों को करोना महामारी से बचाया गया है।

कोरोना वाइरस:

कोरोनावायरस के साथ दुनिया भर में ज्ञात होने के बाद भी, ऐसा कोई टीका उपलब्ध नहीं था। एक प्रभावशाली कोरोना वायरस वैक्सीन का दुनिया भर में बेसब्री से इंतजार किया गया है।  दुनिया भर के कई देशों के वैज्ञानिक कोरोनावायरस वैक्सीन को बनाने  में शामिल हैं। भारत के अलावा ब्रिटेन, अमेरिका और रूस के बैज्ञानिको ने वैक्सीन बनाने में लगगए  हैं। पैर अब पूरी दुनिया के लिए एक बड़ी खबर आचुकी हे। रूस ने इस दौड़ के बीच में आगे होने का दबा किया हे। रूस ने पुरे बिस्वा में पहला कोरोना वायरस के वैक्‍सीन निकल लिया हे। ये खबर पूरी दुनिया के लिए एक अच्छी खबर हे।

रूस कोरोना वैक्सीन: रूस राष्ट्रपति भ्लादिमिर पुतिन ने मंगलबार को ये एलान किया हे।  यह टिका को रूस के राष्ट्रपति भ्लादिमिर पुतिन अपनी बेटी को इस संक्रमण से निपट ने के लिए लगाया हे। इस टिका को लेने के बाद अपनी बेटी कुछ समय के अंतर पुरे ठीक होगये। उनका बुखार और कोरोना वाइरस के हर लक्ष्यण चले गए थे। ये पुरे देश के लिए एक रहत भरी खबर हे। कियों की रूस ने कोरोना वाइरस के वैक्‍सीन निकल लिया हे। रूस के स्वस्थ्य मंत्रणालय ने भी इस वैक्‍सीन को मंजूरी दे दी गई हे। अब खबर ये आया हे की सबसे पहले इस टिका को रूस के हेल्थ वर्कर को दियाजायेगा।

इस वैक्‍सीन को मास्को के गमलया नेशनल इंस्टिटुरे ने प्रस्तुत किया हे। बहुत जल्द रूस ने दवा किया हे की बहुत मात्रा में वैक्‍सीन उपलब्ध करबायेगा पुरे बिस्वा के लिए। रूस के राष्ट्रपति भ्लादिमिर पुतिन का ये भी कहना हे, की जनुअरी में रूस बासिओं को ये टिका दियाजायेगा। पुतिन का कहना हे की 2 से 3 महीनो में ये टिका हर जगह महजूद होगा।

भारत में कोरोना वाइरस वैक्‍सीन:

अब भारत भी कोरोना वाइरस वैक्‍सीन निकल ने में पीछे नहीं हे। कुछ देशों में वैक्सीन्स के ह्यूमन ट्रायल पहले और दूसरे चरण में सफल रहे हैं। और अब भारत में भी वैक्‍सीन का ट्रायल शुरू होने जा रहा है। दिल्ली स्थित ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसेज़ (एम्स) में सोमवार से ही यह ट्रायल शुरू हो जाएगा । यह ट्रायल 100 स्वस्थ लोगों पर किया जाएगा । जिन पर ट्रायल किया जाएगा उनकी उम्र 18 से 55 साल तक होगी ।

Explosion in Lebanon capital Beirut

पेट दर्द का कारण लक्षण और आयुर्वेदिक इलाज।

24 thoughts on “क्या रूस का कोरोना वैक्सीन इंसानों पर कारगर हे ?

Comments are closed.