साबधान नौजबानो लाइफ में ये गलती मत करना।

Share with Friends
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

साबधान नौजबानो लाइफ में ये गलती मत करना। : 16 से 26 साल के लड़के लड़किओं नौ जवान यानि योंग्सटर्स होते है. इस उम्र में ये नौजवान क्या करते है. School /College पढाई  या फिर दोस्तों के साथ मस्ती, घूमना फिरना, Movie देखना, Party करना, Boy friend/Girl friend या फिर और कुछ…आखिरकार क्या करना चाहिए इस उम्र के नवजवान… को.

Mistake…

साबधान नौजबानो लाइफ में ये गलती मत करना। : बिलकुल भी मत करना… कभी मत करना गलती ….एक बार जो गलती कर गए तो सरे जिंदगी पछताओगे..Yaad रखना ये बात. अगर अप्प कुछ भी गलती करोगे तो..kab तक 15-16 से लेकर 22-23 साल तक करोगे  ज्यादा से ज्यादा 25 साल के उम्र तक गलतिया होती रहेगी क्यों के इस उम्र में आपकी साडी जिम्मेदारी आपकी पेरेंट्स के ऊपर रहती है… असली ज़िन्दगी तो सुरु होती है…30 साल के बाद, जब आप अपनी  लाइफ को एस्टब्लिश करते हो . जॉब या फिर business किसी वि फील्ड में क्यों के 30 साल के बाद आपको न ही गलती करनी की न ही कोई एक्सपेरिमेंट करना का मौका मिलता है..

साबधान नौजबानो लाइफ में ये गलती मत करना। : तो क्या समझे… इसका मतलब जो आप अपनी young age में जो कुछ भी करते हो उसका रिजल्ट आपको अब मिलेगा. India में देखा गया है की 25 साल के उम्र तक ज्यादातर youngster अपनी career को लेके इतना Success नहीं होते, जबकि इसी उम्र कुछ लोग successful entrepreneur बन जाते है… और साडी दुनिया में एक मिसाल कायम करते है.  आज में आपको ऐसे ही कुछ नौजवान के बारे में बताने वाला हु जो की बहत ही कम उम्र में ही लाइफ में success Achievements किये है। तो चलिए जानते है।

Oyo Room Ke founder- Ritesh Agarwal

ओडिशा के एक छोटा और पिछड़ा हुआ जिल्ला नयागढ़ के रहेनेवाला Ritesh Agarwal सिर्फ 17 साल के उम्र में ही अपना successful career journey start कर लिया था । College drop होने के बाद अपना पहला startup Oravel Stays Pvt. Ltd. को 2012 में launch किया था । Ritesh को Travel करने की बड़ी रूचि थी इसीलिए वो एक सहर से दूसरे सहर Travel करता था।  इसी दौरान उसने देखा की जब भी वो किसी दूसरे सहर जाता था तो उसे बड़ी तकलीफ होती थी.. अच्छे होटल मिलने की.. अगर मिली तो budget में नहीं मिलती थी ..अगर budget में मिल भी गयी तो अच्छे service नहीं थी। इन सरे problems को मिलकर उसने एक Solution निकला। और उस Solution का नाम था OYO ROOM.

इसीलिए उसने 2013 में OYO ROOM की सुरबत की जिसका असली मकसद था लोगो को affordable budget में standard accommodation के सुविधा देना Ritesh ने गुड़गाँव के एक होटल में 11 कमरों के साथ OYO की शुरुआत की। आज, OYO के भारत के 170 शहरों में लगभग 5500 Properties में 65000 कमरे हैं। जब ज्यादातर लोग इन सब चीजों के बारे में सोचते हैं, Ritesh उसे हासिल करने में कामयाब रहा है. अगर Ritesh अग्रवाल के Achievements को देखे तो Ritesh Ko 2013 में TATA first dot awards द्वारा top 50 entrepreneurs में शामिल किया गया ।Finalist of the global student Entrepreneurship Awards India. उसे 2013 में एक Business Insider द्वारा दुनिया के 8 सबसे hottest teenage startup founders in the world में से नामित किया गया है।

Farhad ACIDWala

16 साल की उम्र में अपने पिता से एक Domain Name खरीदने के लिए 500 रुपये उधार लेकर एक Web Community का निर्माण शुरू किया। वेबसाइट से हटने के बाद, उन्होंने समुदाय को एक High returns के लिए बेच दिया। आज, Farhad Rockstah Media नामक एक web development, marketing, advertising and branding company के CEO हैं। सिर्फ 1 वर्ष की एक बहुत युवा कंपनी होने के बावजूद, दुनिया भर में developers, marketers and designers की अपनी टीम है।

King Siddharth

वर्ष 2010 में दुनिया के 25 Young Entrepreneurs में से एक, King Siddharth ने एक entrepreneur के रूप में शुरुआत की, जबकि वह उस समय स्कूल में थे। Creativity से भरपूर और बहुत Active सिद्धार्थ ने entreprnuership को अपने उत्साह से आगे बढ़ाया और फ्रेंड्ज़ (Friendz) नामक एक ऑनलाइन पत्रिका शुरू की एक ऐसे Platform के रूप में, जो सभी लोगों को पसंद आता हो । तब वो सिर्फ 10th standard में ही था । 

बाद में फिल्म निर्माण और विविध ज्ञान प्राप्त करने के बारे में भी गहरी रुचि रखते हुए, सिद्धार्थ की यात्रा एक ऐसी है जो युवाओं की नियमित आकांक्षाओं का अनुकरण करती है। यह वास्तव में उसकी उद्यमशीलता और उसके जुनून को कुछ और ठोस बनाने के लिए उसका जुनून है जिसने उसे एक उद्यमी आत्मा के रूप में उभरने के रास्ते पर पहुंचा दिया। इसके साथ साथ कई और Business ventures like Headout and Instamojo के साथ, King Siddharth निश्चित रूप से भारत के top young entrepreneurs में से एक हैं।

Tilak Mehta- “Papers N Parcels”

मुंबई के एक 13 वर्षीय लड़का तिलक मेहता, जिसने 2018 में Papers N Parcels नाम से एक logistics start up की स्थापना की, तिलक ने शहर के भीतर कुछ किताबें देने में असफल होने के अपने अनुभव से आकर्षित किया।एक दिन के अंदर पार्सल deliver करना  इतना आसान भी नहीं था।  इसीलिए तिलक ने एक Bank Officer को अपने Company के CEO बनाया और सुविधाजनक वितरण में और अधिक दक्षता के लिए मुंबई के famous Dabbawala के साथ खुद को associate किया।

Complete system को सही तरीके से manage करने के लिए तिलक ने एक dedicated mobile application का उपयोग किया जो प्रति दिन लगभग 1000 से अधिक पार्सल के delivery करता है, Tilak Papers N Parcels को पूरी तरह से अपने उद्यम के रूप में विकसित किया, यहां तक कि जब वह आसानी से अपने पिता के साथ मिल सकता था, जो खुद एक logistics company के कार्यकारी थे। Launch के तुरंत India Maritime Awards में Logistics Sector में Tilak Mehta को Youngest Entrepreneur के रूप में नवाजा गया।

Sreelakshmi Suresh

सबसे कम उम्र के web designers में से एक ,दुनिया में सबसे कम उम्र के C.E.O के रूप में प्रतिष्ठित, श्रीलक्ष्मी सुरेश ने केवल 6 साल की उम्र में एक वेबसाइट डिजाइन करके अपने entrepreneurial journey को start किया। हालांकि उसको सफलता तब मिली जब वो 2009 में e-Design की स्थापना के साथ उड़ान भरी जब वह सिर्फ 10 साल की थी और अब पूरी तरह से वेब डिजाइनिंग कंपनी बन गई है।

18 वर्ष से कम आयु के अमेरिकन वेबमास्टर्स एसोसिएशन के एकमात्र सदस्य और साथ ही उनके गोल्ड वेब अवार्ड के प्राप्तकर्ता, सुरेश को भी कई अन्य राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय संस्थानों और संगठनों द्वारा सम्मानित किया गया है।

Phanindra Sarma( Redbus.in)

अब बात करते है Redbus.in के बारे में।  नाम तो सुना होगा। RedBus.in भारत में सबसे बड़े ऑनलाइन टिकट बुकिंग प्लेटफ़ॉर्म के Founder, Phanindra Sarma देश के उन उद्यमियों में से एक हैं, जिन्होंने युवा शुरुआत की थी। 26 साल के एक व्यक्ति के रूप में जिसने बस टिकट बुक करने का एक आसान तरीका तैयार करने के बारे में सोचा, बस वापस घर लौटने के अपने कड़वे अनुभव के कारण, सरमा ने entrepreneurial journey को बहुत ही casually से आगे बढ़ाया था। अब World Economic Forum के एक युवा ग्लोबल लीडर के रूप में, सरमा Pilani Soft Labs Pvt Ltd के Founder हैं और उभरते हुए व्यवसायों और startup में भी निवेश कर रहा है ।अपने उद्यमशीलता की यात्रा में अन्य कई सरे युबायों को प्रेरित करते रहते हैं।

साबधान नौजबानो लाइफ में ये गलती मत करना। : ये सरे  Young Entrepreneur ऐसेही famous नहीं हुए हैं, न ही जादू की छड़ी मिल गयी थी। आज ये सब जो कुछ भी हैं अपनी काबिलियत के वजेसे। अगर आप ये कहेंगे की चलो ठीक हे,लाखो करोडो में कोई success हो जाता हे…  में आपको बतादूँ की इनसे पहले भी काईनऔर  Success का सीढी चढ़ चुके हैं। अगर ये लोग वि एहि  सोचते आज ये सरे नवजवान इस मुकाम पैर नहीं होते। तो ऐसी सोच को पहले अपनी दिमाग से निकल दो क्यों की दुनिता में कईं तरह के opportunities हैं। अगर कुछ चाहिए तो आपको आपके सोच को बदलना पड़ेगा।

अगर आपको हमारी इस टॉपिक अच्छा लगा तो कमेंट कर के बताये।

Republic Bharat TV चैनल के बारे में मुम्बाई पुलिस का बड़ा खुलासा।

24 thoughts on “साबधान नौजबानो लाइफ में ये गलती मत करना।

Comments are closed.